×
userImage
Hello
 Home
 Dashboard
 Upload News
 My News
 All Category

 Latest News and Popular Story
 News Terms & Condition
 News Copyright Policy
 Privacy Policy
 Cookies Policy
 Login
 Signup

 Home All Category
Tuesday, Jul 23, 2024,

National / Political / India / Delhi / New Delhi
मास्को में पीएम मोदी ने कहा- भारत-रूस में दो और वाणिज्य दूतावास खोलेगा

By  Agcnnnews Team
Tue/Jul 09, 2024, 04:57 AM - IST   0    0
  • 2014 में देश में बस कुछ सौ स्टार्टअप थे, आज इनकी संख्या लाखों में है।
  • आज भारत वो देश है, जो रिकॉर्ड संख्या में पेटेंट फाइल कर रहा है, रिसर्च पेपर पब्लिश कर रहा है।
New Delhi/

नई दिल्ली/प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय रूस दौरे पर हैं। इस बीच मॉस्को में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए मंगलवार को पीएम मोदी ने कहा, “मैं आप सभी के साथ कुछ अच्छी खबर साझा करना चाहता हूं। हमने कज़ान और येकातेरिनबर्ग में नए वाणिज्य दूतावास खोलने का फैसला किया है। इससे यात्रा और व्यापार में वृद्धि होगी।”

पीएम मोदी यह भी बताया कि अब भारत और रूस चेन्नई-व्लादिवोस्तोक पूर्वी गलियारे को खोलने के लिए भी काम कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि 21वीं सदी में भारत ‘विश्व बंधु’ (विश्व का मित्र) की भूमिका निभाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा, हमारे दोनों देश गंगा वोल्गा संवाद और सभ्यता के माध्यम से एक-दूसरे को खोज रहे हैं।  पीएम ने आगे कहा, 2015 में जब मैं यहां आया था, तब मैंने कहा था कि 21वीं सदी भारत की होगी। तब मैं कह रहा था, आज दुनिया कह रही है। दुनिया के सभी विशेषज्ञ कह रहे हैं कि 21वीं सदी भारत की सदी है। आज विश्व बंधु के रूप में भारत दुनिया को नया भरोसा दे रहा है। भारत की ग्रोइंग केपेब्लिटीज ने पूरी दुनिया को स्थिरता और समृद्धि की उम्मीद दी है। न्यू इमर्जिंग मल्टीपोलर वर्ल्ड ऑर्डर में भारत को एक मजबूत पिलर के रूप में देखा जा रहा है।

भारत और रूस के बीच संबंध वैश्विक समृद्धि को दे रहे हैं नई ऊर्जा

प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि भारत और रूस के बीच संबंध वैश्विक समृद्धि को नई ऊर्जा दे रहे हैं। उन्होंने भारत और रूस के बीच संबंधों को नई ऊंचाइयां देने के लिए भारतीय समुदाय की भी प्रशंसा की। भारत और रूस के बीच विशेष संबंधों के बारे में बोलते हुए, पीएम मोदी ने कहा, “मुझे खुशी है कि भारत और रूस वैश्विक समृद्धि को नई ऊर्जा देने के लिए कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं। यहां मौजूद आप सभी भारत और रूस के संबंधों को नई ऊंचाइयां दे रहे हैं। आपने अपनी मेहनत और ईमानदारी से रूसी समाज में योगदान दिया है। मैंने दशकों से भारत और रूस के बीच के अनूठे संबंधों की सराहना की है।”

रूस को भारत का भरोसेमंद दोस्त बताते हुए, पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंध हमेशा गर्मजोशी भरे रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा, ये रिश्ता म्यूचुअल ट्रस्ट और म्यूचुअल रिस्पेक्ट की मजबूत नींव पर बना है। पीएम मोदी ने कहा, रूस शब्द सुनते ही…हर भारतीय के मन में पहला शब्द आता है… भारत के सुख-दुख का साथी, भारत का भरोसेमंद दोस्त। रूस में सर्दी के मौसम में टेंपरेचर कितना ही माइनस में नीचे क्यों न चला जाए भारत-रूस की दोस्ती हमेशा प्लस में रही है, गर्मजोशी भरी रही है।

भारत-रूस संबंधों को मजबूत करने में राष्ट्रपति पुतिन के योगदान की हुई तारीफ

भारत-रूस संबंधों को मजबूत करने में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के योगदान की प्रशंसा करते हुए, पीएम मोदी ने कहा, “हमारे संबंधों की मजबूती कई बार परखी गई है और हर बार हमारी दोस्ती और मजबूत हुई है। मैं विशेष रूप से अपने प्रिय मित्र राष्ट्रपति पुतिन के नेतृत्व की सराहना करना चाहूंगा। उन्होंने दो दशकों से अधिक समय से इस साझेदारी को मजबूत करने के लिए अद्भुत काम किया है।” “पिछले 10 वर्षों में यह छठी बार है जब मैं रूस आया हूं और इन वर्षों में हम एक-दूसरे से 17 बार मिले हैं। इन सभी बैठकों ने विश्वास और सम्मान बढ़ाया है। जब हमारे छात्र संघर्ष में फंस गए थे, तो राष्ट्रपति पुतिन ने उन्हें भारत वापस लाने में हमारी मदद की। मैं एक बार फिर रूस के लोगों और मेरे मित्र राष्ट्रपति पुतिन को इसके लिए धन्यवाद देता हूं।”

विदेश से आने वाले लोग देख सकते हैं भारत में बदलाव

पीएम मोदी ने कहा कि जब लोग विदेश से देश में आते हैं तो उन्हें लगता है कि भारत बदल रहा है। उन्होंने कहा कि विदेश से आने वाले लोग भारत में बदलाव को स्पष्ट रूप से देख सकते हैं। पिछले एक दशक में भारत की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए पीएम मोदी ने कहा, “आज का भारत जो लक्ष्य ठान लेता है, वो पूरा करके ही रहता है। आज भारत वो देश है, जो चंद्रयान को चंद्रमा पर वहां पहुंचाता है, जहां दुनिया का कोई देश नहीं पहुंच सका।आज भारत वो देश है, जो डिजिटल ट्रांजेक्शन का सबसे रिलायबल मॉडल दुनिया को दे रहा है। आज भारत वो देश है, जहां दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप इकोसिस्टम है। 2014 में देश में बस कुछ सौ स्टार्टअप थे, आज इनकी संख्या लाखों में है। आज भारत वो देश है, जो रिकॉर्ड संख्या में पेटेंट फाइल कर रहा है, रिसर्च पेपर पब्लिश कर रहा है। यही मेरे देश के युवाओं की शक्ति है।

बदलते भारत को देखकर दुनिया हैरान

पीएम ने कहा, “पिछले 10 वर्षों में देश में हवाई अड्डों की संख्या दोगुनी हो गई है और भारत जी-20 शिखर सम्मेलन जैसे सफल आयोजन करता है, तो दुनिया हैरान हो जाती है।” पिछले 10 वर्षों में भारत में हुए विकास के बारे में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, “पिछले 10 वर्षों में देश ने विकास की जो गति हासिल की है, उसे देखकर दुनिया हैरान है। जब दुनिया से लोग भारत आते हैं, तो वे कहते हैं ‘भारत बदल रहा है’। जब आप सब आते हैं, तो आप भी ऐसा महसूस करते हैं। वे क्या देख रहे हैं? वे भारत के परिवर्तन, भारत के पुनर्विकास को स्पष्ट रूप से देख पा रहे हैं।” “जब भारत जी-20 जैसे सफल आयोजन करता है, तो दुनिया एक स्वर में बोलती है, ‘भारत बदल रहा है’। जब भारत सिर्फ 10 वर्षों में अपने हवाई अड्डों की संख्या दोगुनी कर देता है, तो दुनिया कहती है, ‘भारत बदल रहा है’। उन्होंने कहा, “जब भारत सिर्फ 10 साल में 40,000 किलोमीटर से ज्यादा रेलवे लाइनों का विद्युतीकरण करता है, तो दुनिया को भी भारत की ताकत का एहसास होता है, वे कहते हैं कि देश बदल रहा है।” पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में आने के लिए लोगों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वह भारत की मिट्टी की खुशबू रूस लेकर आए हैं। उन्होंने कहा, “मैं यहां आने के लिए आप सभी का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। मैं यहां अकेला नहीं आया हूं, मैं बहुत कुछ लेकर आया हूं। मैं अपने साथ हिंदुस्तान की मिट्टी की खुशबू लेकर आया हूं। मैं अपने साथ 140 करोड़ देशवासियों का प्यार और आप लोगों के लिए उनकी शुभकामनाएं लेकर आया हूं।”

बता दें कि इससे पहले सोमवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मास्को के पास रूसी राष्ट्रपति आवास नोवो-ओगारियोवो पर एक अनौपचारिक बैठक भी की। इस संबंध में रूसी विदेश मंत्रालय ने एक्स पर एक वीडियो साझा किया, जिसमें पीएम मोदी और व्लादिमीर पुतिन के बीच गर्मजोशी से अभिवादन दिखाया गया। सोमवार को पोस्ट की गई क्लिप में दोनों नेताओं को एक-दूसरे को गले लगाते हुए दिखाया गया है।

पीएम मोदी सोमवार को आधिकारिक यात्रा के लिए मास्को पहुंचे थे जहां उनका स्वागत रूसी संघ के पहले उप प्रधानमंत्री डेनिस मंटुरोव ने किया। वहीं आज मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान भारतीय समुदाय ने पीएम मोदी का गर्मजोशी से स्वागत किया। रूस की अपनी यात्रा के समापन के बाद, पीएम मोदी ऑस्ट्रिया के लिए रवाना होंगे।

By continuing to use this website, you agree to our cookie policy. Learn more Ok